0 1 min 4 mths

प्रशांत महासागर में 600 द्वीपों से बना न्यूजीलैंड दुनिया का सबसे युवा देश है। क्योंकि इसकी शुरुआत 1300 ईस्वी में हुई थी. लगभग 750 वर्ष पूर्व पॉलिनेशिया से कुछ लोग न्यूज़ीलैंड आये और मनुष्य के पहले कदम इसी भूमि पर पड़े। ये लोग अब ‘माओरी’ लोगों के नाम से जाने जाते हैं। बाद में 1840 में अंग्रेजों ने इन द्वीपों पर कब्ज़ा कर लिया। ‘ट्रीटी ऑफ वायटांगी’ के नाम से जाने जाने वाले एक समझौते के कारण माओरी और ब्रिटिशों के बीच भूमि का सद्भावपूर्वक उपयोग करने का समझौता हुआ। इस देश को यूरोपीय लोगों द्वारा दिया गया नाम ‘नोवाज़ीलैंडिया’ था। इस डच नाम का अंग्रेजी रूप माओरी लोगों द्वारा अपनी माओरी भाषा में ‘न्यूजीलैंड’ है, ‘माओरी’ का अर्थ है ‘सरल’ या ‘सामान्य’ लोग। माओरी लिखने की कला नहीं जानते थे, उनकी सारी परंपरा मौखिक है।

माओरी लोगों के मिलने पर एक-दूसरे का अभिवादन करने का तरीका बहुत अनोखा होता है। वे हाथ नहीं मिलाते या सलाम नहीं करते बल्कि करीब आते हैं और एक-दूसरे के माथे और नाक को छूते हैं। इस तरह नाक छूने से ‘एक-दूसरे के जीवन की सांसें’ साझा होती हैं.

उनका मानना ​​है कि दोस्ती व्यक्ति के जन्म से बनती है। माओरी लोगों में चेहरे पर अलग-अलग टैटू का विशेष महत्व है। चेहरे को टैटू से रंगना ‘ता मोको’ कहा जाता है। टैटू गुदवाने का उद्देश्य सिर्फ दिखावा करना नहीं है, बल्कि इन टैटू से उस व्यक्ति की समाज और जनजाति में स्थिति का पता चलता है। प्रत्येक माओरी चेहरे का टैटू अद्वितीय है। इस टैटू को बनाने के लिए शार्क के दांत का उपयोग करना एक परंपरा है। पारंपरिक माओरी पौराणिक कथाओं के अनुसार, ‘रंगी’ का अर्थ है ‘आकाश पिता’ और ‘पापा’ का अर्थ है पृथ्वी माता का विवाह हुआ और उससे ब्रह्मांड का जन्म हुआ। माओरी लोग कला में कुशल हैं। उन्होंने ‘वैता’ (गाने), ‘हाका’ (नृत्य) और ‘मोतीति’ (कविता) के माध्यम से अपने इतिहास और पारंपरिक ज्ञान को संरक्षित किया है।

समूह में रहने वाले माओरी लोग भी भोजन पकाने के लिए एक साथ आते हैं। खाना पकाने की उनकी पारंपरिक विधि को ‘हांगी’ कहा जाता है। हांगी में चिकन, मछली, बकरी, सब्जियां सभी को एक साथ मिलाकर जमीन में गाड़ दिया जाता है और ऊपर आग जला दी जाती है और उस आग पर खाना पकाया जाता है. चूँकि खाना पकाने में समय लगता है, स्वाभाविक रूप से बातचीत, गाने और काम करने से जमावड़ा पूरा हो जाता है।

न्यूज़ीलैंड प्रशान्त महासागर में ऑस्ट्रेलिया के पास स्थित देश है। ये दो बड़े द्वीपों से बना है। न्यूज़ीलैंड के ४० लाख लोगों में से लगभग तीस लाख लोग उत्तरी द्वीप में रहते हैं और दस लाख लोग दक्षिणी द्वीप में। यह द्वीप दुनिया के सबसे बडे द्वीपों में गिने जाते हैं। अन्य द्वीपों में बहुत कम लोग रहतें हैं और वे बहुत छोटे हैं। न्यूजीलैंड में सरकार एकात्मक संसदीय संवैधानिक राजतंत्र प्रणाली के अधीन है व् इस देश की सरकार महारानी एलिजाबेथ द्वितीय द्वारा शासित है, लेकिन इस देश में चुनाव होते है व् न्यूजीलैंड को चुनाव के द्वारा अपना प्राइम मिनिस्टर चुनने का अधिकार है.

दक्षिण पश्चिमी प्रशांत महासागर में स्थित एक खूबसूरत द्वीप देश है, जोकि प्रशांत महासागर में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व में स्थित है. इस द्वीप की भौगोलिक स्थिति बेहद लाजवाब है व इसके दक्षिण में नई कैलेडोनिया, टोंगा और फिजी देश स्थित हैं।

न्यूजीलैंड कई द्वीपों के समूह से बना देश है, जिसमें उत्तर और दक्षिण द्वीप सबसे बड़े और सबसे अधिक आबादी वाले द्वीप शामिल है, साथ ही इसके इस द्वीप का वातावरण व सुहावना मौसम विश्व भर के सैलानियों को अपनी और आकर्षित करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *