0 1 min 4 weeks

मथुरा,(संवाददाता) :
उत्तरप्रदेश में मथुरा जिले के परिषदीय विद्यालयों में पढ़ाने वाले ज्यादातर शिक्षक मनमानी कर रहे हैं. इसका जीता जागता उदाहरण गुरुवार को उस समय देखने को मिला, जब जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) सुनील दत्त ने निरीक्षण किया. इस दौरान बीएसए ने देखा कि विद्यालय की प्रधानाध्यापक चारपाई डालकर सो रही थीं और स्कूल में चार बच्चे खेल रहे थे. इसके बाद उन्होंने प्रधानाध्यापक को नींद से जगाया तो उनके होश उड़ गए. The headmistress was sleeping in the school.

23 स्कूलों के निरीक्षण के बाद बीएसए ने कई शिक्षकों को नोटिस जारी किया है. बीएसए ने हाजिरी पंजिका को देखा, तो पता चला कि शिक्षामित्र रश्मि भी विद्यालय में मौजूद नहीं थीं. पंजिका पर जगह-जगह सफेद रंग लगाकर हाजिरी को मिटाया गया था. इस पर प्रधानाध्यापक ऋचा नेहरा और शिक्षामित्र रश्मि को नोटिस जारी किया गया है. तीन दिन में स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है। बीएसए सुनील दत्त ने बताया कि जवाब संतोषजनक न मिलने पर कार्रवाई की जाएगी.

स्कूल में मिला ताला

निरीक्षण के दौरान बीएसए जब प्राथमिक विद्यालय बाजना पहुंचे तो वह वहां के हालात देखकर दंग रह गए. सुबह 7 बजकर 36 मिनट पर विद्यालय बंद था और गेट पर ताला लटका था. एक भी छात्र स्कूल के आसपास मौजूद नहीं था. बीएसए ने स्कूल में तैनात सभी स्टाफ को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है. परिषदीय स्कूलों में चल रही गतिविधियों का निरीक्षण करने के लिए बीएसए ने एक के 23 स्कूलों का
निरीक्षण किया.

ये भी पढ़े: जामुन: सूचना एवं औषधीय उपयोग  https://express24news.in/jamun-information-and-medicinal-uses/

नौहझील विकासखंड के सुल्तान पट्टी में निरीक्षण के दौरान बीएसए को पांच में से केवल दो शिक्षक ही उपस्थित मिले। तीन शिक्षक अनुपस्थित मिले। 26 में से केवल 14 छात्र स्कूल में उपस्थित मिले। पूर्व माध्यमिक विद्यालय नवीपुर में निरीक्षण के दौरान सहायक अध्यापक भूपेंद्र अनुपस्थित मिले। प्राथमिक विद्यालय नवीपुर में निरीक्षण के दौरान सहायक अध्यापक मुमताज अनुपस्थित मिले। 78 के सापेक्ष केवल 20 छात्र ही उपस्थित मिले। उच्च प्राथमिक विद्यालय बिरजू गढ़ी में निरीक्षण के दौरान प्रधानाध्यापक समेत चार शिक्षक एक साथ अवकाश पर मिले।

बीएसए सुनील दत्त ने बताया कि 23 परिषदीय विद्यालयों के औचक निरीक्षण में शिक्षकों की लापरवाही सामने आई है। 12 से ज्यादा शिक्षक अनुपस्थित मिले हैं। स्कूलों में छात्र संख्या भी काफी कम मिली। सभी को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। जवाब संतोषजनक न मिलने पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *