चाय
0 1 min 1 week

युवाओं में अलग स्वाद के तौर पर गुड़ की चाय की मांग बढ़ी है।

हाल के दिनों में चाय का चलन बढ़ा है। दोस्तों या रिश्तेदारों से मिलने या काम के बाद साथ में चाय पीने की चाहत हमेशा रहती है। बातें करते-करते चाय पी ली जाती है. चाय एक अपनापन पैदा करती है. चाय की बढ़ती मात्रा को देखकर स्वाभाविक रूप से चाय के प्रकार भी बढ़ गए हैं अब बाजार में कई अलग-अलग ब्रांड की चाय की दुकानें मौजूद हैं। गुड़ वाली चाय जैसी विशेष चाय की दुकानें बड़ी संख्या में शुरू हो गई हैं। युवाओं में अलग स्वाद के तौर पर गुड़ की चाय की मांग बढ़ी है।

गुड़ की चाय की दुकानें अब भारत के किसी भी शहर के विभिन्न हिस्सों में देखी जा सकती हैं। गुड़ की चाय 8 और 10 रुपये में मिलती है. गुड़ की चाय पीने वालों की संख्या बड़े पैमाने पर बढ़ रही है. कुछ लोग बदलाव के तौर पर गुड़ की चाय भी पीते हैं। पहले ग्रामीण क्षेत्रों में गुड़ की चाय पी जाती थी। अब शहरी इलाकों में गुड़ वाली चाय का सेवन किया जाने लगा है।

चाय

पोषण विशेषज्ञों का कहना है कि गुड़ की चाय आपके पाचन के लिए भी मददगार होती है। आपके पाचन को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। इसके साथ ही इस चाय की गर्मी आपके शरीर में थकान को दूर करने का भी काम करती है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में फायदेमंद है।

चाय विक्रेता का कहना है कि गुड़ की कीमत 60 रुपये प्रति किलो है. एक लीटर दूध से 20 कप चाय बनती है। . गुड़ और दूध की ऊंची कीमतों के बावजूद सिर्फ चाय ही 8 से 10 रुपये बिक रही है. गैस, दुकान का किराया ये सब खर्चे हैं. व्यवसाय अच्छा हो जाता है, इसलिए हम इसे वहन कर सकते हैं।

जानिए गुड़ की चाय के क्या हैं फायदे

■ पाचन के लिए मददगार नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के एक अध्ययन में गुड़ की चाय के कई फायदे बताए गए हैं। इनमें से एक लाभ पाचन तंत्र से संबंधित है।

■ गुड़ की चाय पीने से अपच की समस्या में राहत मिलती है। इसलिए गुड़ की चाय पाचन में सुधार करके अपच को कम करने में मदद कर सकती है।

ये भी पढ़े: Good news! पोस्ट पेमेंट बैंक ने एक साथ लाया 5 बीमा कंपनियों की पॉलिसी; कम प्रीमियम पर दुर्घटना बीमा का लाभ; विकलांगता, चिकित्सा व्यय के लिए भी वित्तीय सुरक्षा

मासिक धर्म के दौरान उपयोगी: महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान गुड़ की चाय पीने से फायदा हो सकता है। गुड़ में मौजूद पोषक तत्वों के कारण ऐसे दिनों में व्यक्ति को राहत मिल सकती है। अगर इस दौरान किसी महिला को पेट में दर्द होता है, वह अस्वस्थ महसूस करती है तो भी गुड़ की चाय का इस्तेमाल किया जा सकता है।

वजन घटाना: गुड़ पोटेशियम से भरपूर होता है और मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाकर वजन नियंत्रित करने में मदद करता है। यानि गुड़ की चाय वजन घटाने के लिए भी उपयोगी हो सकती है।

चाय

डिटॉक्स: गुड़ का उपयोग शरीर से अनावश्यक अपशिष्ट को बाहर निकालने के लिए किया जा सकता है। गुड़ प्राकृतिक रूप से श्वसन तंत्र, ग्रासनली, पेट आदि अंगों का ख्याल रखता है। इसलिए, गुड़ पेट से अवांछित पदार्थों को बाहर निकालकर पेट और शरीर के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

प्रतिरक्षा को बढ़ावा देना: विटामिन, खनिज और पोषक तत्वों के कारण गुड़ स्वाभाविक रूप से आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। इसलिए गुड़ का सेवन आपके शरीर को चेचक से बचाव करने में मदद कर सकता है।

ये भी पढ़े: Shocking! चरित्र पर संदेह के चलते पति ने की 28 वर्षीय पत्नी की हत्या; साक्ष्य मिटाने के लिए शव को कुएं में फेंक दिया

गुड़ वाली चाय के भी हैं नुकसान, जानिए

शुगर लेवल बढ़ाता है: गुड़ के अधिक सेवन से ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ जाता है। 10 ग्राम गुड़ में लगभग 9.7 ग्राम चीनी होती है। इसलिए बेहतर होगा कि डायबिटीज के मरीज जितना हो सके गुड़ के सेवन से बचें।

चाय

■ जिस तरह बहुत अधिक बिना मीठा गुड़ खाना खतरनाक हो सकता है, उसी तरह खराब गुणवत्ता और ठीक से तैयार न किया गया गुड़ खाना भी खतरनाक हो सकता है।

वजन बढ़ना : एक सौ ग्राम गुड़ में लगभग 385 कैलोरी होती है। इसलिए डाइटिंग करने वालों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

नकसीर : गुड़ मूलतः गर्म पदार्थ है। इसलिए अगर गर्म मौसम में इसका सेवन किया जाए तो अक्सर नाक से खून आने लगता है। पेट की गर्मी बढ़ने के कारण त्वचा पर भी इसका असर देखने को मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदूषण उत्पाद खीरा चाय बीमा पति कीट